Sharing is caring!

आपको किसी दूसरे देश में जाने के लिए ही पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है लेकिन अब भारत के एक शहर में प्रवेश करने के लिए भी पासपोर्ट चाहिए होगा। जी हां, ये है बांग्लादेश के सीमा से लगा असम का धुबड़ी जिला । दरअसल ये शहर बांग्लादेश से घुसपैठ और तस्करी का मुख्य केन्द्र बन चुका था ऐसे में केंद्र सरकार ने बांग्लादेश की सीमा पर तस्करी रोकने तथा अवैध घुसपैठियों पर काबू पाने के लिए ये बड़ा कदम उठाया है और बांग्लादेश सीमा के पास स्थित घुबड़ी क्षेत्र को आव्रजन चेक पोस्ट बनाने का निर्णय लिया है। सोमवार को केद्रीय गृह मंत्रालय ने इस आदेश की जानकारी दी है, जिसमे कहा गया है कि पासपोर्ट 1950 नियम तीन के उप-नियम के आधार पर केंद्र सरकार ने असम के धुबड़ी जिले में स्थित धुबड़ी नदी के बंदरगाह को एक अधिकृत आव्रजन चेक पोस्ट के रूप में बनाने का फैसला ले रही है। ऐसे में इस चेक पोस्ट के जरिये भारत में प्रवेश के लिए कोर्इ भी यात्री वैध दस्तावेज के साथ ही यात्रा कर सकता है।

आपको बता दें कि धुबड़ी, ब्रह्मपुत्र और गदाधर नदियों से घिरा, गुवाहाटी और ढाका के लगभग बीच में स्थित, असम का एक छोटा-सा शहर है.इसी माह जनवरी से यहां सीमा की सुरक्षा के लिए ड्रोन सहित अत्याधुनिक उपकरणों की संस्थापित किए जा रहे हैं ताकि सीमा पार से की जा रही सभी अवैध गतिविधियों पर बराबर नजर रखी जा सके और वहां जान-माल की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। इससे पूर्व बीते वर्ष नवंबर माह केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज गंगाराम अहिर ने धुबड़ी जिले के सीमावर्ती इलाके का दौरा कर वहां अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरणों को संस्थापित करने के लिए स्थल का निरीक्षण किया था।तीन तरफ से ब्रह्मपुत्र और गदाधर नदियों से घिरा, गुवाहाटी और ढाका के लगभग बीच में बसा, असम का एक छोटा-सा शहर है धुबड़ी.

Sharing is caring!