Sharing is caring!

एक ऐसा ही अपराध आज से लगभग 2 महीने पहले हरियाणा के गुरुग्राम में हुआ था। आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें हम बात कर रहे हैं मासूम प्रद्युम्न हत्याकांड की। गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में आठ साल के मासूम प्रद्युम्न की हत्या बड़ी बेरहमी के साथ गला काटकर की गयी थी। पुलिस ने मासूम की हत्या के शक में उस समय स्कूल के बस ड्राईवर को गिरफ्तार किया था। जब इस मामले को पुलिस हल करने में असफल रही तो इसका जिम्मा सीबीआई को दे दिया गया।

जानकारी के अनुसार इस घटना के दो महीने बाद सीबीआई ने इस हत्या की गुत्थी को सुलझा दिया है। इस हत्याकांड के मुख्या आरोपी 11वीं कक्षा के छात्र ने जुवेनाइल जस्टिस के सामने यह स्वीकार कर लिया है कि इस निर्मम हत्या के पीछे वही है। इस दौरान यह भी खुलासा हुआ है कि छात्र ने हत्या करने से पहले लगभग 2-3 मिनट तक यह सोचा कि अभी तो यह बहुत मासूम बच्चा है। लेकिन सोचते-सोचते ही अचानक उसने प्रद्युम्न पर हमला कर दिया। आपको बता दें जांच के दौरान उसने खुद स्वीकार किया था कि स्कूल की परीक्षा को टलवाने के लिए उसने यह सब किया था।

इस हत्याकांड में सीबीआई ने 11वीं के छात्र को मुख्य आरोपी बनाया। कई बार पूछताछ की गयी, जब उसके ऊपर शक हुआ तो उसे गिरफ्तार किया गया। आरोपी छात्र के रिमांड का समय जब पूरा हो गया तो उसे जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश किया गया। उस समय जिवेनाइल जस्टिस के प्रिंसिपल मजिस्ट्रेट के साथ दोनों सदस्यों ने सीबीआई की टीम को बाहर कर दिया। उसके बाद पूछताछ शुरू की। आरोपी छात्र ने बोर्ड के सामने यह स्वीकार किया कि उसने ही हत्या की है।

Sharing is caring!