Sharing is caring!

धोनी एक आक्रामक सीधे हाथ के बल्लेबाज और विकेटकीपर है। धोनी उन विकेटकीपरों में से एक है जिन्होंने जूनियर व भारत के ए क्रिकेट टीम से चलकर राष्ट्रीय दल में प्रतिनिधित्व किया। पार्थिव पटेल,अजय रातरा और दिनेश कार्तिक उन्हीं के दिखाए हुए रास्ते पे चले। धोनी जो अपने दोस्तों में माही के नाम से जाने जाते है। बिहार क्रिकेट टीम में १९९८/९९ के दौरान अपना योगदान दिया और भारत-ए टीम के लिए २००४ में हुए केन्या दौरे का प्रतिनिधित्व करने के लिए चयनित हुए। त्रिदेशीय श्रृंखला में पाकिस्तान-ए टीम के खिलाफ धोनी ने गौतम गंभीर के साथ मिलकर कई शतक बनाये और उस साल के अंत में भारतीय राष्ट्रीय टीम में चयनित हुए।

धोनी यु तो काफी ठन्डे दिमाग के माने जाते है, लेकिन इस बार मैच के दौरान शायद कुछ ऐसा हुआ की महेंद्र सिंह धोने “द कप्तान कूल” भी अपना आपा खो बैठे, चलिए नज़र डालते है पूरी खबर पर. दरसल, यह अवसर भारतीय पारी के आखिरी ओवर में हुआ जब धोनी बल्लेबाजी कर रहे थे। पहली गेंद के बाद धोनी को पांडे पर चिल्लाते हुए देखा गया। धोनी पांडे से कह रहे थे कि वह कहीं और नहीं उनकी ओर देखें। इसकी अगली ही गेंद पर धोनी ने छक्का लगाकर गेंद पर अपना गुस्सा निकाला।

धोनी और पांडे के बीच चौथे विकेट के लिए 98 रनों की साझेदारी हुई. इसकी बदौलत भारत ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 188 रनों का स्कोर खड़ा किया. हालांकि यह स्कोर भी साउथ अफ्रीका के लिए काफी नहीं था और उसने 18.4 ओवर में यह लक्ष्य हासिल कर लिया. साउथ अफ्रीका की जीत में विकेटकीपर बल्लेबाज हेनरिच क्लासेन का बड़ा योगदान रहा जिन्होंने 30 गेंदों पर 69 रनों की पारी खेली. इसके साथ ही तीन मैचों की वनडे सीरीज अब 1-1 से बराबर हो गई है. सीरीज का आखिरी मैच 24 फरवरी को केप टाउन में खेला जाएगा.

अब धोनी ने ऐसे कौनसे शब्द बोले और कैसी गाली दी वो तो हम नहीं बता सकते लेकिन निचे दिए गए लिंक में आप विडियो में देख कर खुद ही अंदाजा लगा सकते है:

Sharing is caring!