“इसरो” भारत का गौरव

  • January 25, 2018
  • 4:02 pm
  • LexHindustan

Sharing is caring!

“इसरो” भारत का गौरव जिसकी कामयाबी के आगे दुनिया सिर झुकाती है।आज हर भारतीय को इस पर गर्व है  “इसरो” जिसने स्पेस रिसर्च के क्षेत्र में दुनिया के सामने मिशाल कायम की है आज इसरो दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाए हुए है

इसरो के बारे में जानने के लिए देखें यह विडियो  –

इसरो के हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य – Interesting Facts about Isro

आर्यभट्ट इसरो का पहला उपग्रह था जो की 19 अप्रैल 1975 लॉन्च किया गया था।

सन 22 अप्रैल 2008 को इसरो ने चंद्रयान -1 लॉन्च किया था। जिसका बजट साढ़े तीन सौ करोड़ रूपये था।

भारत विश्व में एकलौता ऐसा देश है जिनसे पहली ही बार में मंगलयान के माध्यम से मंगल ग्रह पर पहुंचने में सफलता प्राप्त की इससे पहले अमेरिका ने 5 बार सोवियत संघ 8 और चीन और रूस भी पाने पहले प्रयास में असफल हुए थे।

इसरो को शांति, निस्त्रीकरण के साथ विकास के लिए सन 2014 में इंदिरा गांधी पुरुस्कार से सम्मानित किया गया।

इसरो के द्वारा अमेरिकी के GPS सिस्टम की तरह अपना जीपीएस सिस्टम बना लिया है जिसका नाम IRNSS है।

भारत द्वारा लॉन्च किया पहला स्वदेशी उपग्रह था जिसके डायरेक्टर भारत के राष्ट्रपति श्री डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम थे।

पाकिस्तान की स्पेस एजेंसी जिसका नाम है Suparco इसकी स्थापना 1961 में की गई थी। वह अभी कोई भी बड़ा प्रयास करने में असफल है।

Sharing is caring!