Sharing is caring!

आप भी सोचते होगे की हमारी सेलिब्रिटीज कहा से खाती पीती है.आज हम आपको बतायगे ऐसी खबर जिसे आप जरुर जानेगे.महाराष्ट्र में पुणे के उत्तर पूर्व में गांव की हरी भरी गलियों से गुजरता रास्ता भाग्य लक्ष्मी डेयरी तक ले आता है. 3000 से ज्यादा गायें, अत्याधुनिक मिल्किंग पार्लर और साथ में मौके पर ही फ्रेंच तकनीक से दूध को बोतलों में बंद करने का इंतजाम. भारत के हर गांव में मौजूद गौशालाओं की तस्वीर से यह बिल्कुल अलग है.जिसके ग्राहकों की सूची में देश की बड़ी-बड़ी हस्तियां शामिल है। भाग्यलक्ष्मी का दूध दक्षिणी मुंबई में रहने वाले 1500 खाते पीते परिवारों को जाता है. जाहिर है कि इस कीमत पर यह दूध कम से कम भारत के आम लोगों के लिए विलासिता ही है.

देश के सबसे रईस परिवारों में से एक अंबानी फैमिली से लेकर महानायक अमिताभ बच्चन, सचिन तेंदुलकर, ऋतिक रोशन और अक्षय कुमार जैसे सेलेब्स के घर में भी इसी डेयरी से दूध जाता है। अब आपके मन में ये विचार आ रहा होगा, कि आखिर दूध की कीमत क्या होगी, तो आपको बता दें कि इस डेयरी के एक लीटर दूध की कीमत 90 रुपये है|पूरे 26 एकड़ में फैली पराग मिल्क फूड्स लिमिटेड की यह गौशाला अपने प्राइड ऑफ काउज ब्रांड के नाम से विख्यात दूध बेचती है|

एक लीडिंग वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार शाह के फॉर्म में लगभग 4 हजार डच होल्स्टीन नस्ल की गायें हैं जिनके एक गाय की कीमत 1.75 लाख से लेकर 2 लाख रुपये तक होती है। अगर भारतीय देसी नस्ल के गायों (डच गाय की तुलना में) की बात करें, तो उनकी कीमत 80 से 90 हजार रुपये पड़ती है।

मालूम हो कि 26 एकड़ में बनें इस डेयरी फॉर्म में शाह ने करीब 150 करोड़ रुपये निवेश किया है। उनके डेयरी में रोजाना 25 हजार से ज्यादा दूध का प्रोडक्शन होता है। इसके साथ ही उन्होने गायों के देख-भाल के लिये विशेष व्यवस्था कर रखी है। जो कि लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है।

दूध निकालने से लेकर पैंकिंग तक नहीं लगता इंसानी हाथ
आपको बता दें कि इस फॉर्म में गाय का दूध निकालने से लेकर पैकिंग तक में इंसानी हाथ नहीं लगता, सब कुछ ऑटोमेटिक होता है, इसके अलावा दूध निकालने से पहले हर गाय का वजन और टेम्प्रेचर चेक किया जाता है| एक बार में 50 गायों का दूध निकाला जाता है, जिसमें 7 मिनट लगते हैं।

Sharing is caring!