Sharing is caring!

श सुधरने और आगे बढ़ने की बात करता है वहीं दूसरी तरफ ऐसे भी लोग हैं जो अपनी हवस मिटाने के लिए देश को अपनी ही नजरों से गिरा देते हैं।बात करें महिलाओं के साथ होने वाले अपराध की, तो इतने सख्त कानून बनाये जाने के बावजूद आये दिन हम उन पर हुए अत्याचार की खबरें सुनते ही रहते हैं. मासूम छोटी बच्चियों के साथ स्कूल में दुष्कर्म की खबरें तो आती ही रहती हैं. हवस के दरिंदे स्कूल जैसे पवित्र स्थान को भी नहीं छोड़ते. कैमरा लगे होने और इतनी सख्त सिक्यूरिटी के बावजूद लोग ऐसे घिनौने काम को बिना डरे अंजाम दे देते हैं. तो ज़रा सोचिये बाहर क्या होता होगा जहां न कोई कैमरा है और न ही कोई सख्त सिक्यूरिटी.

आज हम आपको एक ऐसी ही खबर से रू-ब-रू कराने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आपकी भी रूह कांप जायेगी, जी हां… मां-बाप अपनी गायब बच्ची को ढूंढते-ढूंढते परेशान हो गये, 4 साल तक बच्ची को ढूंढने में कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन बच्ची का कहीं भी सुराग नहीं मिल पाया जब एक दिन अचानक 4 साल बाद लड़की एक बच्चे के साथ घर पहुंची, फिर जो उसने अपनी आपबीती सुनाई तो लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई।

साल 2014 को छत्तीसगढ़ के सूरजपुर के रामानुज में एक लड़की का अपहरण हो गया था. लाख ढूंढने पर भी मां-बाप और पुलिस उसे ढूंढ नहीं पायी. 4 साल के बाद जब वह घर वापस लौटी तो बताया कि एक शख्स ने उसे अगवा कर लिया था और मध्यप्रदेश के शिवपुरी में 62 हज़ार रुपये में बेच दिया था. कुमेर नाम के एक शख्स ने उसे खरीदा था और उसे फार्म हाउस में रखा गया था.उसने आगे बताया कि कुमेर अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ दुष्कर्म करता था. इतना ही नहीं वह उसका अश्लील विडियो भी बनाता था. अश्लील विडियो से वह लड़की को धमकी दिया करता था कि अगर उसने फार्म हाउस से भागने की कोशिश की तो वह उसका विडियो सोशल मीडिया पर डाल देगा. लेकिन किसी तरह लड़की उन दरिदों के चुंगल से अपनी जान बचाकर भागने में कामयाब हुई.

आरोपी के ऊपर जाच चल रही है.

Sharing is caring!