Sharing is caring!

आज हम आपको बताने जा रहे ऐसी खबर जिसे सुनकर आप जरुर चोक जायगे.लेकिन आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति से मिलाने जा रहे हैं जो नशे के लिए छिपकली और बिच्छू खाता हैं. जी हाँ! आपने सही पढ़ा. इस ये आदमी रोजाना छिपकली और बिच्छुओं का नशा करता हैं. आइए जाने पूरा मामला एक युवा को ऐसी लत लगी कि वह दिन में एक छिपकली खा जाता है। इसके बिना वह छटपटाता है। पिछले 15 सालों से इतने जहरीले जीव-जंतु उसने खा लिए कि अब शरीर भी जहरीला हो गया। ग्रामीण अचरज में हैं… घर वाले परेशान।

जानकारी के मुताबिक 29 वर्षीय नयन मथुरालाल एक बहुत ही अजीब नशे का शिकार हैं, नयन जब 15 साल का था तब से उसने छिपकलि और बिच्छुओं को खाना शुरू कर दिया था. तब से लेकर अब तक वो रोजाना इनका सेवन करता आ रहा हैं. हालत इतनी ज्यादा खराब हैं कि नयन को एक दिन भी खाने में छिपकली ना मिले तो वो तड़पने लगता हैं. लगातार इतने सालो से छिपकली और बिच्छु के सेवन से उसका शरीर जहरीला बन गया हैं. यदि वो गलती से किसी को काट ले तो वो मर जाता हैं.

नयन का दावा है कि वह कभी बीमार नहीं हुआ, परंतु किसी दिन छिपकली का सेवन नहीं करता तो उसके हाथ-पैर काम करना बंद कर देते हैं। सिर दर्द होने लगता है। उसने बताया कि वह शाम के समय ज्यादा छिपकली खाता है। इसके लिए वह गांव के मंदिरों में छिपकली तलाशता है। नयन ने बताया कि वह लोगों के पालतू जानवरों को चराने जंगल में जाता था। पेट की भूख मिटाने के लिए वह जीव-जंतुओं को चबा जाता था। अब उसको इसकी लत लग गई है। बिच्छु के काटने से उसे कुछ नहीं होता। उसका कहना है कि सांप का स्वाद उसने कभी नहीं चखा.

नयन एक किस्सा सुनाते हुए कहते हैं कि जब भी वो मोहल्ले से निकला करता था तो गली का एक कुत्ता और पिल्ला उस पर अक्सर भौका करते थे. एक दिन उसे गुस्सा आया तो उसने इन दोनों को काट लिया. नयन के काटने से पिल्ला कुछ ही घंटो के भीतर मर गया जबकि कुत्ता बाद में 3 दिनों बाद मरी हालर में मिला.

 

Sharing is caring!