Sharing is caring!

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि भारत रीति रिवाजों और परंपराओं का देश है. यहां हर परंपरा पुराने जमाने से ही चलती आ रही है जिसको आज भी लोग निभाते चले आ रहे हैं. देखा जाए तो यह रीति रिवाज और उसमें काफी दिलचस्प होती हैं. आज की पढ़ी-लिखी युवा पीढ़ी में से भी कुछ लोग इन रस्मों रिवाजों को मानते हैं और कुछ नहीं मानते. इन सभी रस्मों रिवाजों में से शादी की रस्में सबसे अहम होती हैं. शादी की रस्में भारतीय समाज में पुराने समय से ही फॉलो की जा रही हैं.

शादी की सारी रस्मों में से कुछ रस में बहुत ही दिलचस्प होती हैं. जिनमें से हाथों से पीछे की ओर चावल गिराना, गृह प्रवेश करते समय पैरों से चावल का कलश घर में गिराना आप जैसी परंपराएं मुख्य हैं. इन्हीं सब परंपराओं में से शादी की पहली रात के समय दुल्हन का पति को दूध पिलाना भी एक रसम है

दूध को बाकी सभी तत्वों में से सबसे पवित्र तत्व माना जाता है. क्योंकि दूल्हा और दुल्हन शादी के बाद अपनी नई जिंदगी की शुरुआत करने जा रहे होते हैं, इसलिए दूध को आदर्श पर मान कर उन्हें सर्व किया जाता है.

इसके अलावा अगर कामसूत्र की माने तो दूध सर्व करने से दोनों दूल्हा-दुल्हन में शारीरिक संबंध बनाने के लिए स्टेमिना और एनर्जी बढ़ जाती है. ऐसे में दूध उनकी सेहत के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होता है.

इसके साथ ही हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि दूध में केसर और बादाम डालकर पीने से इंसान की थकावट दूर होती है और एक नई एनर्जी उत्पन्न होती है. इसके इलावा दूध में प्रोटीन भी काफी हाई मात्रा में होता है. शरीर में मौजूद एस्ट्रोजन हार्मोन के लिए प्रोटीन की काफी जरूरत रहती है. इसलिए वह प्रोटीन हमें दूध से मिल सकता है.

Sharing is caring!