Sharing is caring!

मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी को सुरक्षित क्षेत्र मे बदलने के रास्ते अब साफ होते दिख रहे है। ज़िले मे हुए एक  मुठभेड़ में प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का प्रमुख और 10 लाख का इनामी आतंकी सोहन डी शीरा मारा गया। शिरा पिछले साल दिसंबर में बांग्लादेश से वापस भारत आया था।

Image result for Sohan D Shira

कुछ दिनो पहले राकांपा उम्मीदवार जोनाथन एन संगमा की देशी बम से हत्या कर दी गई थी। इस ह्त्या मे शीरा का हाथ होने कि भी आशका थी। संगमा कि हत्या के बाद 27 फरवरी को घाटी मे होने वाले मतदान को नज़र रखते हुए गारो हिल्स में आतंकवाद विरोधी अभियान चलाया गया था।

Image result for Sohan D Shira

 

पुलिस को खुफिया खबर मिली थी कि डोबू इलाके में कुछ जीएनएलए उग्रवादियों की संभावित रूप से मौजूद है। इसके बाद उग्रवाद निरोधक बल घाटी मे सक्रिय हुई। मेघालय के स्पेशल फोर्स के 10 कमांडो और गारो हिल्स पुलिस के संयुक्त कार्यवाही करते हुए दोबू अचकपेक में सुबह 11:50 बजे के करीब शीरा को मार गिराया।

Image result for Sohan D Shira

घाटी मे सक्रिय शीरा के मारे जाने के बाद उम्मीद है की मेघालय मे आतंक थोडा कम होगा।

 

Sharing is caring!