Sharing is caring!

दुनियाभर में कई ऐसी चीजें या घटनाएं होती हैं, जो आपको सोच में डाल देती है। जिसे देखकर या उसके बारे में जानकर आप भी आश्चर्यचकित हो जाते हैं। जी हां, ममी के बारे में तो आप सब ने सुना होगा। ये भी हो सकता है कि आपमें से कई लोगों ने ममी देखा भी हो। लेकिन जॉर्जिया में लोगों ने एक ऐसा ममी देखा, जिसे देख कर हर शख्स के होश उड़ गए। जी हां, एक ममी के मिलने का ये नजारा बेहद ही चौंकाने वाला था।

यूरोप के देश जॉर्जिया में एक ऐसा मामला सामने आया, जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया। मरने के बाद शवों को ममी बनाने की कृत्रिम विधा प्राचीन काल से मिस्र में देखी जाती रही है। मगर, जॉर्जिया में एक कुत्ते के प्राकृतिक ममी मिली है। वह एक 60 साल पुराने पेड़ के अंदर फंसा हुआ था। दरअसल, जब 60 साल पुराने पेड़ को काटा गया, तो इस कुत्ते की ममी देखने को मिली थी। यहां के जंगलों में कुछ साल पहले जब जंगलों में पुराने पेड़ काटे जा रहे थे, तभी एक पेड़ के तने के बीच एक कुत्ते का अजीब सा ममी दिखी। जब इसे बाहर निकाल कर परिक्षण किया गया, तो पता चला कि वह पेड़ के तने के अंदर करीब 20 सालों से फंसा था।

एक्सपर्ट्स ने बताया कि संभव है कि यहां किसी छोटे जानवर को शिकार करने के चक्कर में ये कुत्ता जमीन खोदकर खोखले हो चुके इस पेड़ के तने के अंदर पहुंच गया होगा, करीब 28 फीट तक चढ़ने के बाद वापस निकलने के लिए ये मुड़ नहीं पाया और भूख-प्यास से इसकी मौत हो गई होगी।

ऐसे में सोचने वाली बात ये हैं कि आखिर इतने दशकों के बाद भी इस कुत्ते की बॉडी खराब होने की जगह ममी में कैस बदल गई थी और वो भी ठीक उसी आकार मे थी जैसा कि ये कुत्ता रहा होगा। ऐसे में विशेषज्ञो ने बताया कि चूंकि तने में हवा का फ्लो ऊपर की ओर रहा होगा जिससे कि दूसरे मांसाहारी जीव और बैक्टीरिया इस तक नहीं पहुंच पाए।साथ ही उस पेड़ में मौजूद कुछ रसयानों की वजह से कुत्ते की बॉडी सड़ने की जगह ठोस कंकाल यानी ममी के रूप में तब्दील हो गई। ऐसे में जार्जिया में अब इस पेड़ और कंकाल को को म्यूजियम में डिस्प्ले के लिए रखा गया है।ऐसे में इस बेहद डरावने ममी को देखने के लिए उस म्यूजियम लाखों लोगों की भीड़ जुट रही है।

Sharing is caring!