Sharing is caring!

भारत अपने धार्मिक इतिहास के लिये विश्व मे प्रसिद्घ है। साम्प्रदायिक्ता के पुजारी जहाँ एक तरफ धर्म के नाम पर लोगो को बाँटने की कोशिशे करते रहते है, वहीं गुजरात कि राजधानी अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर दूर झूलासन नाम का एक गांव है सारे भेद-भाव को चुर कर रहा है। झूलासन की खासियत है यहां का एक मंदिर। डोला माता का मंदिर दुनिया का शायद पहला ऐसा मंदिर है जहाँ हिन्दू मंदिर मे एक मुस्लिम महिला की पूजा देवी रूप में की जाती है।

 

Image result for dola mata mandir

 

भारत अनेकता में एकता का देश है। ऐसा ही एक उदाहरण हमें गुजरात के एक गांव में देखने को मिलता है। गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर दूर झूलासन नाम का एक गांव है। इस गांव की खासियत है यहां का एक मंदिर। दुनिया में शायद ये ऐसा एकलौता हिन्दू मंदिर है, जिसमें एक मुस्लिम महिला की पूजा देवी रूप में की जाती है।

कौन थी डोला ?

Image result for girl in burkha

 

इस मंदिर में डोला नाम की मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। डोला के बारे में कहा जाता है कि करीब 250 साल पहले इस गांव पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। जिसमें डोला ने वीरतापूर्वक उन बदमाशों से गांव की रक्षा की और शहीद हो गई। लोगो का मानना है की डोला का मृत शरीर एक फूल में बदल गया था। जहां डोला ने अपने प्राण त्यागे थे गांव वालों ने उस जगह पर मंदिर का निर्माण किया जिसे आज डोला माता मंदिर के नाम से जाना जाता है।
 एक हिन्दू मंदिर मे मुस्लिम महिला की पूजा देवी रूप मे करना कई लोगो को अटपटा लगेगा। दूर दूर से लोग डोला माता के दर्शन के लिये आते है। डोला माता मंदिर मे एक पत्थर यंत्र की पूजा होती है। गांव वालो का मानना है की डोला माता आज भी गांव वालो के साथ ही है।
Image result for dola mata mandir
7-8 हजार लोगों वाले इस गांव के तकरीबन 2000 लोग अमेरिका में रहते हैं। जो लोग विदेश में बसना चाहते हैं वो अपनी मुरादें लेकर मां के पास आते हैं और वो उन मुरादों को पूरा भी करती हैं। झुलासन अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स का पैतृक गांव है। जब विलियम्स अंतरिक्ष यात्रा पर गई थीं तब गांववालों ने उनकी कुशल कामना के लिए अखंड ज्योति जलाई थी जो उनके वापस आने तक करीब 4 महीने तक जलती रही थी।

Sharing is caring!