Sharing is caring!

भारतीय टीम ने बेहतरीन बल्लेबाजी प्रदर्शन के बाद लाजवाब गेंदबाजी का शानदार नजारा पेश करते हुए आईसीसी अंडर-19 विश्व कप के शुरुआती मैच में ऑस्ट्रेलिया पर 100 रन की बड़ी जीत दर्ज की कप्तान पृथ्वी शॉ की 94 रन की पारी  साथी सलामी बल्लेबाज मनजोत कालरा (86) के साथ 180 रन की गठबंधन से हिंदुस्तान ने सात विकेट पर 328 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया शॉ  कालरा के आउट होने के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को राहत नहीं मिली क्योंकि शुभम गिल ने गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए 63 रन की पारी खेली

न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 विश्व कप में भारतीय तेज गेंदबाज की स्पीड देखकर भारतीय दिग्गज सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग भी चौंक गए।  हम बात कर रहे हैं अंडर -19 विश्व कप में खेल रहे 18 साल के भारतीय तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी की, जिन्होंने अपनी गति से सबको चौका दिया है। नागरकोटी ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में लगभग 149-150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी, जिसे देखकर किसी के लिए भी विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। नागरकोटी के अलावा, शिवम मावी ने भी अपनी तेजी से सबको हैरान किया।

वह नजारा देखने लायक था जब नागरकोटी ने विल सदरलैंड को 145 की रफ्तार से गेंद फेंकी और पलक झपकते ही गिल्ली उड़ा दी। इसे भारतीय गेंदबाजी में ाए युग की शुरुआत के तौर पर भी देखा जा सकता है। इस रफ्तार से गेंदबाजी को देखना हमेशा से रोमांचक रहा है जहां बल्लेबाज का पलक झपकना ही उसे पवेलियन भेजने के लिए काफी है।
शिवम और नागरकोटी ने पूरे मैच के दौरान सिर्फ पेस से ही नहीं चौकाया बल्कि उनकी लाइन और लेंथ भी सटीक थी। राजस्थान के गेंदबाज ने जहां अपने सात ओवर में महज 29 रन खर्च कर तीन विकेट झटके, वहीं शिवम ने भी 45 रन देकर तीन विकेट त्चटकाए। नागरकोटी कोई पहली बार अपनी गेंदबाजी को लेकर चर्चा में नहीं हैं, इससे पहले भी उन्होंने प्रथम श्रेणी मैच में हैट्रिक लेकर अपना लोहा मनवाया था.

Sharing is caring!