Sharing is caring!

आज हम आपको बताने जा रहे एक ऐसी खबर जो  वास्तव में हैरान कर देने वाली है. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये खबर कैलिफोर्निया से सामने आयी है. जी हां दरअसल आज कल कैलिफोर्निया में एक झोपडी लोगो के लिए चर्चा का विषय बनी हुई है. गौरतलब है कि अर्काटा के जंगल में लोगो को एक झोपडी दिखाई दी. हालांकि यहाँ रहने वालो को इस झोपडी की सच्चाई के बारे में नहीं पता था. मगर जब यहाँ का रेंजर इस झोपडी के अंदर गया तो उसे इस झोपडी में कुछ ऐसी चीजे मिली, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता.

असल में कुछ दिनों पहले एक रेंजर का सामना यहाँ ऐसी चीजों से हुआ, जिसकी उसनें कभी कल्पना भी नहीं की थी। वर्षों से जंगलों में रहकर काम करने वाले रेंजर मार्क आंद्रे एक दिन जंगल में काटे जाने वाले पेड़ों निशान लगाने के लिए जंगल के अन्दर घुसे। वहां उन्होंने एक झोपडी देखी, जिसे देखकर वह हैरानी में पड़ गए। उन्हें जंगल के बीच में सुनसान झोपडी को देखकर यकीन नहीं हुआ। रेंजर ने बताया कि जब वह कुछ दिनों पहले जंगल में आया था तो यह झोपडी यहाँ पर नहीं थी। कुछ ही दिन बाद जब वह वापस आया तो उसे झोपडी दिखी।

जब रेंजर हिम्मत करके झोपडी के अन्दर गया तो वहां का नजारा देखकर हैरान रह गया। जब वह झोपडी के अन्दर गया तो उसनें देखा कि वहां एक आलीशान घर की तरह सभी सामान मौजूद थे। वह यह समझ नहीं पा रहा था कि आखिर कौन ऐसी खतरनाक और सुनसान जगह पर रहना चाहता है।आपको जान कर ताज्जुब होगा कि बाहर से एक झोपडी की तरह दिखने वाला ये घर वास्तव में एक कंक्रीट बेस पर बनाया गया था. यहाँ तक कि इसकी दीवारे भी बड़ी मजबूत लकड़ी से बनाई गई थी. मगर इतने बड़े जंगल के बीच भी इस घर को कुछ इस तरह से बनाया गया था, कि ये चाह कर भी किसी को नजर न आये. गौरतलब है कि रेंजर ने इस झोपडी से जाने से पहले यहाँ एक नोटिस छोड़ दिया.जी हां उस नोटिस में लिखा था, कि जिसने भी ये झोपडी बनाई है, वो जल्द से जल्द इसे छोड़ कर चला जाए, क्यूकि पब्लिक प्रॉपर्टी पर इस तरह से कैम्पिंग करना वास्तव में गैर क़ानूनी है. इसके इलावा उस शख्स को जंगल से घर हटाने की बात भी कही गई है. आपको जान कर हैरानी होगी कि कुछ दिन बाद जब रेंजर वहां अपनी टीम के साथ पहुंचे, तो वहां घर को न देख कर हैरान रह गए.

Sharing is caring!